गंगा को तो बचा लिया, वरुणा का क्या?

गंगा को स्वच्छ रखने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। सरकार नई योजनाएं भी ला रही है। उन योजनाओं पर कितना अमल होता है, किसे पता? गंगा को बचाने के लिए कई संस्थान भी लगे हुए हैं। पर उन नदियों का क्या जो गंगा को इतना विशाल बनाए रखने में सहायता करती है। वरुणा भी एक ऐसी ही नदी है। बनारस में गंगा के पहले घाट ‘आदिकेशव’ पर ही गंगा और वरुणा का मिलन देखने को मिलता है। गंगा तो दिखती है पर वरूणा कहीं भी नजर नहीं आती। वरुणा आपकी नजरों के सामने होगा और आप उसे पहचान नहीं पाएंगे। नाला समझकर आगे बढ़ जाएंगे।


ये भी देखें:

इस जुगलबंदी के सामने बड़े-बड़े गवैये फेल हैं

ये भी पढ़ें:  वो आलीशान भवन, जिसमें रहने वाले लोगों ने इस देश की तदबीर बदल दी

Leave a Comment